दिल मेरा तुझपे आया

ऐ पलट ज़रा पलट तो
ज़रा मुड तो जलवे मेरे देख तो।।
माना तू जवां है सबसे ज़ुदा है।
पर मैं भी लाखों मैं एक हूं
मेरी मस्त मस्त जवानी है।
जो तेरी दिवानी है।।
तुझसे प्यार किया मैंने।
तुझपे दिल हार दिया मैंने
मैं बनूंगी तेरी दुल्हनियां
ऐसा ठान लिया मैंने
ऐ पलट ज़रा पलट तो।
न कर तू नखरे सनम।
न कर तू मुझपे सितम।।
बांहों मैं तू मुझको लेले।
मांग मेरी तू भर दे ।।
ए पलट तो ज़रा हंस तो ।
अंगडाई मेरी देख तो।।
ऐ पलट ज़रा पलट तो
ज़रा पलट तो ज़रा पलट तो

लेखक प्रदीप सक्सेना
सदस्य फिल्म राईटर एसोसियशन मुम्बई
सदस्य संख्या 011504

Rights Available Click Here



Post your script for sell




    Leave a Reply