Goblets

Synopsis Goblets Prime Locations: USA, India and London. Genre: Romance/Drama Script Length: 120 pages Log line: When destiny brings Professor the moments that he desires to live for decades at the very doorstep of his death. Characters and their roles : Professor Peter William Fernandez(Protagonist) , Barrister Amineh Jamsheed (Female Protagonist),George Lazarus ( Professor’s loving …

Goblets Read More »

आमर प्रेमगाथाँ

◆Synopsis◆ *आमर प्रेमगाथाँ* यह प्रेम पर आधारित कहानी हैं जो यह बतलाती हैं किस प्रकार दो प्रेमीयो के प्रेम पथ मे संसार सामाजिक रूढ़ियो (जात-पात,ऊँच-नीच) की जंजीरे पैरो मे डालता हैं और आपने प्रेम को पाने के लिए प्रेमीजोडा़ सभी बाँधाओ से लड़कर आपने प्रेम को पाने मे सफल होते हैं और जो कहानी हालातो …

आमर प्रेमगाथाँ Read More »

ਯਾਰ ਤੂੰ ਅੱਜ ਵੀ ਦੇਸੀਆਂ

ਫਿਲਮ ਦਾ ਹੀਰੋ ਰਿੰਕੂ – ਰਿੰਕੂ ਦੀ ਆਵਦੇ ਪਰਿਵਾਰ ਤੇ ਕੋਲੇਜ ਵਿੱਚ ਕਾਫੀ ਇਜ਼ੱਤ ਹੈ , ਕਿਉਂ ਕੀ ਰਿੰਕੂ ਪੜਨ ਦੇ ਨਾਲ -ਨਾਲ ਆਵਦੇ ਪਰਿਵਾਰ ਨਾਲ ਕੰਮ ਵਿੱਚ ਵੀ ਹੱਥ ਵਟਾਉਂਦਾ , ਤੇ ਕੋਲੇਜ ਵਿੱਚ ਵੀ ਹਰ ਵਾਰ ਟੋਪ ਕਰਦਾ ,ਨਸ਼ੇ ਤੋਂ ਦੂਰ ,ਤੇ ਕਾਲੇਜ ਵਿੱਚ ਹਰੇਕ ਨੂੰ ਨਸ਼ਾ ਕਰਨ ਤੋਂ ਰੋਕਦਾ ਹੈ , ਰਿੰਕੂ …

ਯਾਰ ਤੂੰ ਅੱਜ ਵੀ ਦੇਸੀਆਂ Read More »

नई पार्टी नए दल के I नए नेता नए कल के II

नया चेहरा नई चाहत I नए अर्मा नई राहत II नई ख्वाहिस नई मंजिल I नया माझी नई साहिल II अलग-सा है आज राहों में धुप का सुनेह्रापन I आएगा ओर भी अब मेरी चाहत में गहरापन II नई सासे नई खुश्बू I नए गेशु नया जादू II नई सुबह नई राते I नई यारी …

नई पार्टी नए दल के I नए नेता नए कल के II Read More »

झूठी-मुटी, झूठी-मुटी, झूठी-मुटी

झूठी-मुटी, झूठी-मुटी, झूठी-मुटी,……… दिया बुझाए जिया जलाए धुल उडाए साझ को झूठी-मुटी, झूठी-मुटी, झूठी-मुटी,……… बाते बनाए मुझको रिझाए शम्मा दिखाए चाँद को झूठी-मुटी, झूठी-मुटी, झूठी-मुटी,……… धुरी पे चुन्नी कि झुला डाले उन्घी लगाए झूले मे बाली बजाए सूरत सजाए आइना बनाए काच को झूठी-मुटी, झूठी-मुटी, झूठी-मुटी,……… प्रीत के गीत से मन मोहे खेत घुमाए रात …

झूठी-मुटी, झूठी-मुटी, झूठी-मुटी Read More »

मै जला, मै जला

मै जला, मै जला , देर शब मै जला I बुझ गए जलने वाले सब-के-सब मै जला II तूने देखा तेरे दर दिएँ जल बुझ गए I क्या देखा नहीं तूने रब मै जला II राख़ अपने बारे में मुझसे पूछ रहा था I मोहब्बत हुई मुझको कब, कब मै जला II चाँद को जब …

मै जला, मै जला Read More »

एक हम है एक आप हो

मोहब्बत के पागल में, एक हम है एक आप हो I दो दिलों के हलचल में, एक हम है एक आप हो II ज़मीन-ए-मोहब्बत में कई इश्क के गुल खिले है I पर सबसे उम्दा फसल में, एक हम है एक आप हो II यादों के दरख़्त में मुस्कान पत्ते, गुल हँसी के I ओर …

एक हम है एक आप हो Read More »

Kbtak

तू रुकेगा कबतक तू झुकेगा कबतक तू थमेगा कबतक तू सहेगा कबतक खुद को तू जान ले न कोई तेरा मान ले जीना तुझे है अगर तो रोज़ मरना जान ले कबतक हां कबतक ,कबतक हाँ……

KRISHNA

SCENE 1 .Ek din jab krishna ke papa subah subah pooja kar rahe the tab krishna ne puchha hum roj roj pooja kyu karte hai. aap to kahate ki bhagavan to hamare andar hai.fir roj pooja karne ki jarurat hai papa..han bhagavan to hamre andar hi rahte hai hume pooja unhe yad karne or unki …

KRISHNA Read More »