दिल के चैन

तुंज से लगा जबसे ये नैन
नींद मुझे आती नहीं.
तुजने लुटा मेरे दिल के चैन
भुख मुझे लगती नहीं
तुं करले मेरा एतबार …और कोई जंचता नहीं ….
तुजने लुटा मेरे दिलका चैन……..

वोटसेप में ढूँढू तुजे इमैल में ढूँढू
फेसबुक पे ढूँढू तुजे …. ट्विटर में ढूँढू
तु करले मुझसे प्यार….और कोई जंचता नहीं
तुजने लुटा मेरे दिलका चैन………..

फुलोमे देखु तुजे…..कलियों में देखू
बसंत में देखु तुजे बहार में देखू ……
तुं करना मेरा इंतजार ….और कोई जंचता नहीं …….
तुजने लुटा मेरे दिलका चैन

कहना हे तो सबकुछ….पर कहनहीं पाता
मेरी कसम कुछ….सह नहीं जाता
तुं ही हे मेरे दिलका यार….और कुछ जंचता नहीं
तूने लुटा हे मेरे दिलका चैन
तुजसे लगाहे जबसे ………

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *