1 BHK

1BHK
ड्रामा, सस्पेंस, रोमांस।

एक लड़की है जो नींद से जागती है तो वह अपने आपको एक बड़े से कमरे में बंद पाती है। शादी के जोड़े में है।
चीखती चिल्लाती है कोई निकालो मुझे यहां से पर कोई जवाब नहीं।
वह याद करती कि किस तरह से उसकी शादी हुई और विदा होकर अपने ससुराल जा रही थी पर यहां कैसे आ गई कुछ पता नहीं।
रूम में एक खिड़की लगी हुई है दूसरी तरफ कोई और चिल्ला रहा है जब वह लड़की खिड़की खोलती है तो देखती है कि वहां एक लड़का है वह उसपर चिल्लाती है कि मुझे यहां बंद करके क्यों रखा है?
वह कहता है कि मुझे नहीं पता कि मैं यहां कैसे आ गया।
मैं गार्डन में अपने दोस्त का इंतज़ार कर रहा था शायद वहां मेरी आंख लग गई और जब आंख खुली तो मैं यहां हूँ।
जिस तरफ लड़का है वह दरअसल एक किचन है और उसके साथ एक कमरा भी अटैच है जिस तरह लड़की है वह हॉल टाइप का बड़ा कमरा है।
दोनों में अलग-अलग बाथरूम हैं।
किचन में कुछ खाने पीने का सामान भी है फ्रिज भी रखा हुआ है उसमें कुछ बियर की बोतलें है थोड़ा सा दूध ब्रेड सब्जी आदि सामान रखे हुए लड़की बहुत ही अमीर घराने से है और नखरीली से स्वभाव की है लड़का मिडिल क्लास फैमिली से है दोनों की नोकझोंक शुरू होती है और वहां से निकलने की कवायद भी।
लड़का किचन तरफ है तो उसे खाना बनाना पड़ता है जो कि उसे बनाना नहीं आता लड़की को भी नहीं आता लेकिन वह कुछ भी उल जुलूल बनाता रहता है और दोनों वहां से निकलने के लिए हाथ पैर मारते रहते हैं।
वहां से निकलने का उनका सरवाइव दिखाया गया है जब लड़की अपने बेड को खींचतान कर रोशनदान की तरफ ले जाती है और वहां देखती है तो वह दरअसल बेसमेंट में कैद होते हैं लड़के की तरह भी यही हाल है दोनों परेशान है। कुछ दिन वहां रहने पर लड़की को लड़के से प्यार हो जाता है और वह दोनों एक दूसरे से प्यार करने लगते है लेकिन वहां से निकलने का कोई भी उपाय काम नहीं करता इत्तेफाक से लड़की को लड़के का पासपोर्ट साइज का फोटो मिल जाता है और एक दो क्लू ऐसे मिलते हैं जिससे उसको शक हो जाता है कि उसी लड़के ने उसे यहां कैद किया हुआ है।
जब वह जोर देती है तो लड़का बता देता है कि हां उसी ने उसे यहां कैद किया हुआ है क्योंकि वह उससे बहुत प्यार करता था लेकिन तुमसे कहने की कभी हिम्मत नहीं जुटा पाया क्योंकि तुम बहुत अमीर थी और तुम मुझसे कभी प्यार नहीं करती तो मैंने यह रास्ता अपनाया है।
मकान शहर से थोड़ा हटकर है और हम बेसमेंट में है।
मकान मालिक यहां रहते नहीं हमने चौकीदार से बात करके यह मकान किराए पर लेकर रखा हुआ है वह भी चेक करने यहां एक दो महीने में ही आता है।
राशन का सामान खत्म होने वाला होता है और लड़के ने अपने दोस्त को बोला होता है कि तू हमें यहां से 15 दिन में निकाल लेना लेकिन वह अब तक नहीं लौटता है।
वह लोग सचमुच फस जाते हैं लड़का उपाय ढूंढता है वह किचन के स्टैंड का पत्थर उठाकर बामुश्किल ले जाता है दरवाजा तोड़ता है।
और वह लोग बाहर निकलते हैं जब बाहर आते हैं तो पता चलता है कि उस लड़के का एक्सीडेंट हो गया था और वह कोमा में चला गया है इसलिए वह आ ना सका था।
लड़का ठीक हो जाता है और यह लोग आपस में शादी कर लेते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *