कितनी खूबसुरत है तू, कितनी बेमिसाल है।

कितनी खूबसुरत है तू ,कितनी बेमिसाल है। फूलो जैसे तेरे गाल ,हिरनी जैसी चाल है। वाह क्या चाल है, दिल का बुरा हाल है। कितनी खूबसुरत है तू………… ।   नइनो से तेरे घायल हुआ हु, पास आके तेरे मैं खडा हू। ए सब तेरा कमाल है। कितनी खूबसुरत है तू कितनी………   रुप तेरा …

कितनी खूबसुरत है तू, कितनी बेमिसाल है। Read More »