Aurat Ka Dhokha

Created by :- Mohammad Irfan ज़ालिम ये क्या किया हमें बर्बाद कर दिया | अरमानो के महल को ताराज कर दिया || तेरा न बिगड़ा कुछ भी, वाहों में उसकी जाकर रोते हें हम हमारे , उजड़े हुए जहां पर तूने जिगर को छेद के पार कर दिया | अरमानों के महल को तराज़ कर …

Aurat Ka Dhokha Read More »