Don 3

डॉन ने नोटों के प्लेटस से नौटों का बिजनेस शुरू किया समीर के साथ मिलकर. उन प्लेटस से जो नौटे बनेगी उन नौटों का सौदा इंडिया के बड़े नेताओं के साथ करना चाहता था. डॉन और समीर कानून की नज़रों में बेकसूर हैं और अब डॉन मोना की नजरों में फिर दोबारा गुन्हेगार नहीं बनना चाहता था. इस लिए डॉन ने फिर दोबारा से वरदान का इस्तेमाल किया. वरदान जिस जेल में अपनी सजा काट रहा था उस जेल में डॉन ने समीर को एक केस में फस्वाकर जेल भेजा. समीर को जेल में देख कर वरदान समीर को मिलता हैं.
वरदान:- तुम्हे भी डॉन ने जेल पहुंचा दिया ना.
समीर:- अब मेरी जिंदगी का एक ही मकसद हैं डॉन की मौत.
वरदान:- समीर तुम मेरा साथ दोगे तो हम सब मिलकर डॉन को ख़त्म कर सकते हैं.
समीर:- हम सब का मतलब हम दोनों के अलावा और कोई हैं क्या?.
वरदान:- फेबियन कूल, जिमी गूगल और उस के सरे साथ. जो डॉन की वजह से जेल की सजा काट रहे हैं.
समीर:- समीर डॉन तक वरदान ने कही सारी बातें पहोंचाता हैं. डॉन तुम्हारा अंदाजा सही था यह सब मिल कर तुम्हारा शिकार करना चाहते हैं.
डॉन:- मुझे पता हैं. शतरंज के प्यादों को तीन ही चाले आती हैं.
वरदान बाहर निकलने का प्लान समीर से पूछता हैं समीर उन को प्लान बताता हैं जो डॉन ने समीर को कहा था.
समीर:- अगले हफ्ते को यंहा इस जेल में स्पोर्ट डे (Sport Day) का प्रोग्राम हैं उसी दिन हमें यंहा से बाहर निकल ने का मौका मिलेगा. वरदान तुम मुझे इस जेल के कंट्रोल रूम में पहुंचाओ मै वंहा से जेल के कैमरे और दरवाजो को अपने वक़्त के ही सब से सेट करूंगा.
समीर को कंट्रोल रूम की साफ-सफाई करने का काम वरदान दिलवाता हैं. समीर रूम की सफाई करते हुवे अपना एक सॉफ्टवेर उस कंप्यूटर में डाउनलोड करता हैं. जेल से बाहर निकल ते वक़्त जेल के कैमरों को ऑफ कर सके.
स्पोर्ट डे के दिन यह सारे स्पोर्ट के दुसरे कैदीयों के कपडे पहन ते हैं और अलग तरह का मेकप करते हैं. अपने सेल में दुसरे कैदीयों को बेहोश करके अपने कपडे उहें पहनाकर अपनी जगा पर सुलाया. कुछ बाहर से खिलाडी आए थे खेल के लिए उनकी जगह उनकी गाड़ी में किसी तरह बैठ कर जेल से बाहर निकल गए. अगले दिन समीर से वरदान आगे के प्लान के बारें में पूंछता.
समीर:- किसी के पास कुछ प्लान हैं तो कहिए.
कुछ देर-तक सब खामोश रहते हैं फिर दुबारा समीर उन से पूछता हैं. लेकिन किसी के पास भी कोई प्लान नहीं था. यंहा तक के समीर के पास भी कोई प्लान नहीं था. समीर को डॉन ने एक प्लान कहा था.
समीर:- मेरे पास एक प्लान हैं अगर आप सब कहोतो मै कहता हूँ.
वरदान:- हाँ कहो क्या प्लान हैं तुम्हारा.
समीर:- डॉन के पास अब-भी वह असली वाली प्लेट्स हैं और उस प्लेट्स से वह नोट बनाकर मार्केट में चलाने वाला हैं. आपने यह कहावत तो सुनी होगी. एक तीर से दो शिकार. ठिक उसी तरह से डॉन से हम सब मिलकर माफ़ी मांगेंगे और उस के साथ कम करना शुरू कर देंगे जैसे के फैबियान आप नोट बनाने की मशीन का इंतेजाम करेंगे और बाकि हम सब उन नोटों के खरीदारों को वह नोट लेने की लिए राजी करेंगे. इन सब कामों में वरदान तुम कही भी सामने नहीं आ ओंगे तुम हमारे साथ हो यह बात डॉन को नहीं पता चलनी चाहिए नहीं तो वह हम पर भरोसा नहीं करेगा.
सब समीर के प्लान से सारें राज़ी होते हैं. यह सारें डॉन से मिलकर माफ़ी मांगते हैं और अपने साथ काम में शामिल करने को कहते हैं. डॉन कुछ देर बाद राज़ी हो जाता हैं. डॉन इन के साथ मिलकर बहोत से जाली नोटे बनाता हैं. नोटों का सौदा बड़े नेताओं से करता हैं. डॉन अपना कम करते हुए मोना को हासिल करना चाहता था इस लिए डॉन ने अपने प्लान का मोना को हिस्सा बना लिया. डॉन अपने नोटों के बदले इंडिया के नोटों का सौदा करता हैं और पहले ही पैसे ले लेता हैं. फैबियान के पास नोट बनाने की मशीन और उस का फार्मूला था. जिमी गूगल का नेटवर्क बहोत लोगो के साथ था जिस की वजह से नोटों के खरीदार मिलगए थे. डॉन जिमी गूगल का काम खुद कर सकता था. लेकिन डॉन के नाम से तो सारे डर ते थे और डॉन अपना नाम कंही पर भी नहीं आने देना चाहता था. इस लिए डॉन ने इन सब को बाहर लाया और काम पुरा होने के बाद फिर दो बारा जेल में डाल दिया. क्योंके डॉन को समझना मुश्किल ही नहीं बलके नामुमकिन हैं.

Rights Available Click Here



Post your script for sell




Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *