Language: Hindi

उम्मीद

उम्मीद कभी नहीं छोड़नी चाहिये । मैं आज भी रोज की तरह घर से बैंक की ओर अपनी बाइक से निकला । जब मैं 10 कि.मी. की दूरी पर पहुँचा, तभी मैंने उस लड़के को देखा । जिससे मैं कल भी इसी टाइम के आस-पास मिला था । वो लड़का आज भी हाथ दिखाकर बाइक …

उम्मीदRead More »

प्यार तुज पे लेहेरा

दिल पुछे दीवानी को मनखे मनखे फहेरा एक लाख दियोतो ना मिले दूजा चवन्नी में तेरा दिल पूछे दीवानी को ……… कोई केहता में तेरा हूं छैला में तेरा मजनु तु मेरी लैला कोई केहता मुझे मिलना अकेला तूं मेरी हीर में रांजा रंगीला अजब की दुनिया में अजब गज़ब का मोहरा एक लाख दिए …

प्यार तुज पे लेहेराRead More »

दिल के चैन

तुंज से लगा जबसे ये नैन नींद मुझे आती नहीं. तुजने लुटा मेरे दिल के चैन भुख मुझे लगती नहीं तुं करले मेरा एतबार …और कोई जंचता नहीं …. तुजने लुटा मेरे दिलका चैन…….. वोटसेप में ढूँढू तुजे इमैल में ढूँढू फेसबुक पे ढूँढू तुजे …. ट्विटर में ढूँढू तु करले मुझसे प्यार….और कोई जंचता …

दिल के चैनRead More »

मावली

डान्सर- महंगी महंगी गाडियों में आये हे मावाली सो वाली करे सेविंग तो भी सुरत हे कली नेता – फुल जेसे होठो से क्यों देती हो हमें गली तेरे एक ठुमके पे करदु विदेसी बेंक खली डान्सर- देख ले दुरसे ना करना मुझे छूनेका मन गलिओ में आशीक खड़े हे मेरे लेके AK-47 मेहु शत्रंज …

मावलीRead More »

Saazish

Title:    SAAZISH Written By – Ajay Srivastava SWA #     31534                               Logline – The story is about a renowned criminal lawyer, who misuses the Juvenile laws for his personal revenge.   Synopsis Ek sehar me ek din me teen murders hotey hai, teeno bahut hi bade bahubali neta thay. Saarey sehar me khalbali mach jaati …

SaazishRead More »

रूह

तेरे रूह से मील गया मेरा रूह , तेरी गोरी कलाई ना छोडू मेरा दिल बोले आइ लव यु……. वादा कभी ना तोडू तेरे रूह से मील गया मेरा रूह ……. तिरछी नज़र से ऐसे ना देखो नेनो से नेना मिलाके सीखो मेरा दिल बोले बस तुं ही तुं….. वादा कभी ना तोडु तेरे रूह …

रूहRead More »

समंदर किनारे

आज देखि खुबसुरती समंदर किनारे उडती जुफोने दिलकश करदिये नज़ारे नज़ारे जुकाके जितले कोही भीहो ख़िताब शर्माए तो लगे पूरी ग़ज़ल की हो किताब हवाओ ने शरारत करदी उनकी जुल्फोको उल्जादी पर वोतो उल्जी जुल्फो मे भी लगतिथि शेहजादी दो नशीली आखोमे खोकर भुला ऐ जहरे आज देखि एक खुबसुरती ………….. कोमल बदन और शरारत …

समंदर किनारेRead More »

कितनी खूबसुरत है तू, कितनी बेमिसाल है।

कितनी खूबसुरत है तू ,कितनी बेमिसाल है। फूलो जैसे तेरे गाल ,हिरनी जैसी चाल है। वाह क्या चाल है, दिल का बुरा हाल है। कितनी खूबसुरत है तू………… ।   नइनो से तेरे घायल हुआ हु, पास आके तेरे मैं खडा हू। ए सब तेरा कमाल है। कितनी खूबसुरत है तू कितनी………   रुप तेरा …

कितनी खूबसुरत है तू, कितनी बेमिसाल है।Read More »

Ali aur Jin Ka School

शैली (Genre): – काल्पनिक कथा (Fantasy Fiction) प्रेमिस (Premise): – इल्म हासिल करने के लिए दुनिया के किसी भी कोने में जाना पड़े इंसान को जाना चाहिए. फिर चाहे स्कूल जिन का हो या इंसानों का. थीम (Them): – जो आज-तक नहीं हुवा वह अब हो रहा हैं. इंसान दुनिया में सब से बहेतर हैं …

Ali aur Jin Ka SchoolRead More »

error: Content is protected !!