GAZAL

मै जला, मै जला

मै जला, मै जला , देर शब मै जला I बुझ गए जलने वाले सब-के-सब मै जला II तूने देखा तेरे दर दिएँ जल बुझ गए I क्या देखा नहीं तूने रब मै जला II राख़ अपने बारे में मुझसे पूछ रहा था I मोहब्बत हुई मुझको कब, कब मै जला II चाँद को जब …

मै जला, मै जला Read More »

एक हम है एक आप हो

मोहब्बत के पागल में, एक हम है एक आप हो I दो दिलों के हलचल में, एक हम है एक आप हो II ज़मीन-ए-मोहब्बत में कई इश्क के गुल खिले है I पर सबसे उम्दा फसल में, एक हम है एक आप हो II यादों के दरख़्त में मुस्कान पत्ते, गुल हँसी के I ओर …

एक हम है एक आप हो Read More »